बिना शिक्षा प्राप्त किये कोई व्यक्ति अपनी परम ऊँचाइयों को नहीं छू सकता.

 भविष्य में वो अनपढ़ नहीं होगा जो पढ़ ना पाए. अनपढ़ वो होगा जो ये नहीं जानेगा की सीखा कैसे जाता है 

शिक्षा का मकसद है एक खाली दिमाग को खुले दिमाग में परिवर्तित करना.

शिक्षा का उद्देश्य है युवाओं को खुद को जीवन भर शिक्षित करने के लिए तैयार करना .

जो आपने सीखा है उसे भूल जाने के बाद जो रह जाता है वो शिक्षा है.

शिक्षित व्यक्ति को आसानी से शाषित किया जा सकता है.

केवल एक चीज जो मुझे सीखने में हस्तक्षेप करती है वो है मेरी शिक्षा.

जीवन में बस वही वास्तविक असफलता है जिससे आपने सीख नहीं ली.

शिक्षा की जड़ कड़वी है पर उसके फल मीठे हैं.

शिक्षा स्वतंत्रता के स्वर्ण द्वार खोलने के कुंजी है.